• Today is: Wednesday ,Jul 17 ,2019

मायावती को मूर्तियों पर खर्च किया पैसा वापस करना होगा : सुप्रीम कोर्ट


nainitalsamachar
February 8, 2019

सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट किया कि उसने संभावित विचार के तहत मायावती को सार्वजनिक धन वापस लौटाने को कहा है

सुप्रीम कोर्ट ने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती के लिए कहा है कि उन्हें अपनी और हाथियों की मूर्तियों पर लगे जनता के पैसे को वापस करना होगा. हालांकि पीठ ने यह स्पष्ट किया कि यह अभी संभावित विचार है, क्योंकि मामले की सुनवाई में कुछ वक्त लगेगा. इसके साथ ही उसने अगली सुनवाई के लिए दो अप्रैल की तारीख तय कर दी.

खबरों के मुताबिक शीर्ष अदालत की तीन सदस्यीय पीठ एक वकील की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई कर रही थी. इसमें कहा गया था कि सार्वजनिक धन का प्रयोग अपनी मूर्तियां बनवाने और राजनीतिक दल का प्रचार करने के लिए नहीं किया जा सकता. पीटीआई के मुताबिक इसी को लेकर मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कहा, ‘हमारे संभावित विचार में मायावती को अपनी और चुनाव चिह्न (हाथी) की मूर्तियां बनवाने पर खर्च हुआ सार्वजनिक धन सरकारी खजाने में वापस जमा करना होगा.’

मायावती ने अपने मुख्यमंत्री कार्यकाल के दौरान उत्तर प्रदेश में कई पार्कों का निर्माण करवाया था. इन पार्कों में उन्होंने बसपा संस्थापक कांशीराम और पार्टी के चिह्न हाथी समेत अपनी मूर्तियां भी लगवाई थीं. तभी से यह मुद्दा अलग-अलग समय पर चर्चा में आता रहा है. इसी को लेकर आज सीजेआई ने मायावती के वकील से कहा कि वे अपने क्लाइंट से कह दें कि वे सबसे पहले मूर्तियों पर खर्त हुए पैसों को सरकारी खजाने में जमा कराएं. इससे पहले 2015 में शीर्ष अदालत ने उत्तर प्रदेश की सरकार से पार्कों व मूर्तियों पर खर्च हुए सरकारी पैसे की जानकारी मांगी थी.

सत्याग्रह से साभार

nainitalsamachar